NEW DELHI WEATHER
Breaking News
prev next

इन राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव तक गृह मंत्री अमित शाह बने रहेंगे BJP अध्यक्ष

Image Source : Google

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) संगठन चुनाव तक BJP अध्यक्ष बने रहेंगे. बताया जा रहा है कि छह महीने के भीतर बीजेपी संगठन के लिए आंतरिक चुनाव कराए जाएंगे, जिसके बाद ही बीजेपी के नए अध्यक्ष का चुनाव होगा. भारतीय जनता पार्टी की बैठक का ब्योरा देते हुए BJP नेता भूपेंद्र यादव ने बताया कि अमित शाह ने फिर दोहराया है कि पार्टी का पीक अभी नहीं आया है और जिन क्षेत्रों में पार्टी अभी नहीं पहुंची है उन सबमें पहुंचेगी. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, झारखंड और हरियाणा विधानसभा चुनाव बीजेपी अमित शाह की अध्यक्षता में ही लड़ेगी बीजेपी. बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव ने बताया कि 2014 में अध्यक्ष बनते हुए अमित शाह ने कहा था कि बीजेपी का पीक अभी नहीं आया है. इसी तरह आज फिर यही बात दोहराई कि पार्टी का पीक अभी नहीं आया है और जिन क्षेत्रों में पार्टी अभी नहीं पहुंची है उन सबमें पहुंचेगी.

बता दें कि हालिया लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 300 सीटों का आंकड़ा पार किया. इसका श्रेय पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की रणनीति और प्लानिंग को दिया गया था. हालांकि अमित शाह के मोदी कैबिनेट में शामिल होने के बाद बीजेपी के नए अध्यक्ष को लेकर कयास शुरू हो गए. कहा जा रहा है कि गृह मंत्रालय मिलने के बाद उनके लिए दोनों जिम्मेदारियों  को संभालना थोड़ा मुश्किल है.

आपको बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष के तौर पर अमित शाह का तीन वर्षीय कार्यकाल इस साल की शुरुआत में खत्म हो गया था, लेकिन पार्टी ने उनसे चुनाव तक अपने पद पर बने रहने को कहा था. गौरतलब है कि बीजेपी के संविधान के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष तीन और वर्षों तक अपने पद पर बना रह सकता है. सूत्रों का कहना है कि पार्टी के सांगठनिक चुनाव तक अमित शाह अपने पद पर बने रहेंगे या नहीं, इसका फैसला भी कल होने वाली मीटिंग में लिया जाएगा. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने देशभर में शानदार प्रदर्शन किया और पार्टी ने अकेले 303 सीटों का आंकड़ा छुआ, जो बहुमत के लिए जरूरी जादुई आंकड़े से कहीं ज्यादा है. पार्टी ने इस बार पश्चिम बंगाल और ओडिशा में बेहतरीन प्रदर्शन किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


17 − ten =

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.